Yatriyon Ke nazariyen History Class 12

Yatriyon ke nazariyen inportant points:

2021 में होने वाली वार्षिक परीक्षा के Syllabus में से इस अध्याय को निकल दिया गया है। इलिये इसे नहीं पढ़ना है।

This is the best place to learn because we provide related articles, notes and question bank free.

👉महिलाओं और परुषों द्वारा यात्रा करने के अनेक कारन थे। जैसे कार्य की तलाश में, प्राकृतिक आपदाओं से बचाव के लिए, व्यापारियों, सैनिकों, पुरोहितों और तीर्थ यात्रियों के रूप में या फिर साहस की भावना से प्रेरित होकर। 
👉उपमहाद्वीप में आए यात्रियों द्वारा दिए गए सामाजिक विवरण अतीत की जानकारी में सहायक है। 
👉10वीं सदी से 17वीं सदी तक तीन प्रमुख यात्री भारत आये।
👉अल-बरुनी को भारत में अनेक अवरोधों का सामना करना पड़ा जैसे संस्कृत भाषा से वह परिचित नहीं था, धार्मिक अवस्था और प्रथा में भिन्नता, जाती व्यवस्था तथा अभिमान। 
👉अल-बरुनी का जन्म 973 ई. में आधुनिक उज्बेकिस्ता में हुआ था। वह कई भाषाओँ का ज्ञाता था जिनमें सीरियाई , फ़ारसी, हिब्रू और संस्कृत शामिल हैं। 
👉1017 ई. में सुल्तान महमूद, अलबरूनी को अपने साथ गजनी ले गया। 
👉इब्न बतूता ने भारतीय शहरों का जिवंत विवरण किया है जैसे भीड़-भाड़ वाली सड़के, चमक-धमक वाले बाजार, बाजार आर्थिक गतिविधियों के केंद्र, डाक व्यवस्था, दिल्ली एवं दौलताबाद, पान और नारियल ने इब्न बतूता को आश्चर्य चकित किया। उसने दास-दासियों के विषय में भी लिखा। 
👉इब्न बतूता के विवरण के अनुसार उस काल में सुरक्षा व्यवस्था समुचित नहीं थी। 
👉बर्नियर के अनुसार भारत में निजी भू-स्वामित्व का अभाव था जिससे बेहतर भूधारक वर्ग का उदय न हो सका। बर्नियर के अनुसार भारत में मध्यवर्ग के लोग नहीं थे। बर्नियर ने सती प्रथा का विस्तृत वर्णन किये है। 
👉फ्रांस्वा बर्नियर एक चिकित्सक, राजनीतिज्ञ, दार्शनिक तथा एक इतिहास कार भी था। बर्नियर ने पक्षिम और पूर्व की तुलना की। 

विदेशी यात्रियों के विवरण:

यात्री

आगमन

जन्म स्थान

ग्रन्थ

ग्रन्थ की भाषा

अल-बिरूनी

11 वीं शताब्दी

उज्बेकिस्तान

किताब – उल – हिन्द

अरबी

इब्न बतूता

14 वीं शताब्दी

मोरक्को

रिह्ला

अरबी

फ्रांस्वा बर्नियर

17 वीं शताब्दी

फ्रांस 

ट्रैवल इन द मुग़ल एम्पायर

फ्रेंच

 As you know that we provide Question bank so if you wish to download then click below detail.
Question Bank: Download

Join Our Video lesson free: Click Here

Yatriyon ke Nazariyen very short type questions:

संपादन अभी जारी है……………………

 

 

Leave a Comment