Mugal Darbar class 12 History

Mugal Darbar class 12: शासक और विभिन्न इतिवृति: मुग़ल दरबार लगभग 16 वीं और 17 वीं सदी।

Mugal Darbar class 12: Important Points:

* मुग़ल वंश का संस्थापक बाबर था। इस वंश के अन्य शासक हुमायूँ, अकबर, जहांगीर ( सलीम ), शाहजहां व औरंगजेब था। अकबर इस वंश का सबसे महान शासक था।

* क्रॉनिकल्स शैली ( इतिवृति ) घटनाओं का अनवरत कालानुक्रमिक विवरण प्रस्तुत करते है।

* मुग़ल काल की प्रमुख रचनायें- बाबरनामा ( बाबर ), हुमायूँनामा ( गुलबदन बेगम ), अकबरनामा ( अबुल फजल ), बादशाहनामा ( अब्दुल हामिद लाहौरी ) थी।

* गूगल दरबारी इतिहास फारसी भाषा में लिखे गए थे।

* महाभारत का अनुवाद ‘ रज्मनामा ‘( युद्धों की पुस्तक ) के रूप में फारसी में हुआ।

* पाण्डुलिपि को एक बहुमूल्य वास्तु, बौद्धिक सम्पदा और सौंदर्य के कार्य के रूप में देखा जाता था। पाण्डुलिपि के रचना का मुख्या केंद्र शाही किताब खाना था।

* ‘ नस्तलीक़ ‘ अकबर की पसंदीदा लेखन शैली थी।

* इतिहासकार अबुल फजल ने चित्रकारी को एक ‘ जादुई कला ‘ के रूप में वर्णन किया है।

* 1784 में विलियम जॉन्स द्वारा कलकत्ता में सेशियाटिक सोसाइटी ऑफ़ बंगाल की स्थापना की गयी। जिसका उद्देश्य भारतीय पांडुलिपियों का संपादन, प्रकाशन और अनुवाद करना था।

* अकबर ने 1563 में तीर्थयात्रा व् 1564 में जजिया कर समाप्त कर दिया क्योंकि यह दोनों कर धार्मिक पक्षपात पर आधारित थे।

* ‘ हरम ‘ शब्द फ़ारसी से निकला है जिसका तातपर्य है ‘ पवित्र स्थान’ ।

* दरबारी इतिहासकारों व् चित्रकारों द्वारा मुग़ल सम्राटों पर ईश्वर के दैवीय प्रकाश का निरूपण अपनी रचनाओं में किया गया ।

* अकबर के शासन की एक महत्वपूर्ण नीति ‘ सुलह-ए-कुल ‘ ( पूर्ण शांति) है।

* मुग़ल दरबार में शासक के लिए किये गए अभिवादन के तरीकें थे सिजदा, चार तसलीम, ज़मींबोसी, कोर्निश।

* साम्राज्य के निर्माण के आरंभिक चरण में तुरानी और ईरानी अकबर के शाही सेवा में उपस्थित थे 1560 के बाद राजपूतों व् भारतियों मुसलमानों ने भी शाही सेवा में प्रवेश किया।

* अंबेर का राजा भारमल पहला राजपूत था जो अकबर के शाही सेना में सम्मिलित हुआ। तथा अपनी पुत्री का का विवाह अकबर से किया।

Join our YouTube Channel: Click Here

Download Previous Year Solved Paper: Click Here

आपके तयारी की जाँच के लिए हमने एक इस विषय से सम्बंधित एक Quiz बनाया है। इसे जरूर खेलें।

[wp_quiz id=”538″]

इस पाठ के प्रश्न उत्तर जल्द ही उपलब्ध होंगे ………………….

Leave a Comment