Vijaynagar Class 12

Vijaynagar Class 12: एक साम्राज्य की राजधानी लगभग 14 वीं से 16 वीं सदी तक।

Vijaynagar Class 12: Important Points:

* विजयनगर अथवा ‘ विजय का शहर ‘ साम्राज्य की स्थापना 14 वीं शताब्दी में की गयी थी?

* यह कृष्णा तुंगभद्रा दोआब क्षेत्र में स्थित है। इसके प्रमुख शासक कृष्णा देव राय थे। इनका शासन काल 1509 से 1529 तक थी।

* हम्पी के भग्नावेश 1800 ई में अभियंता तथा पुराविद कर्नल कॉलिन मैकेंजी के द्वारा प्रकाशित किया गया था।

* मैकेंजी, जो ईस्ट इंडिया मैं कार्यरत थे, ने इस स्थान का पहला सर्वेस्क्षण मानचित्र तैयार किया था।

* विजयनगर साम्राज्य की स्थापना दो भाईयों – हरिहर और बुक्का द्वारा 1336 में गयी थी।

* विजयनगर साम्राज्य के शासक अपने आप को ‘ राय ‘ कहते थे।

* विजयनगर मसलों, वस्त्रों तथा रत्नों के बाजारों के लिए प्रशिद्ध था।

* व्यापर से प्राप्त राजस्व राज्य की समृद्धि में महत्वपूर्ण योगदान देता था।

* विजयनगर पर संगम, सुलुव, तुलुव व् अराविदु वंशों ने शासन किया।

* विजयनगर के सर्वाधिक प्रसिद्ध राजा कृष्णा देव राय ‘ तुलुव वंश से सम्बंधित थे। इनके शासन की चारित्रिक विशेषता विस्तार और सुदृढ़ीकरण था। इन्होंने शासनकाल के विषय में आमुक्तमाल्यद नमक तेलगू भाषा में एक कृति लिखी।

* विजयनगर शहर को विशाल किलेबंदी की गयी थी। अब्दुल रज्जाक के अनुसार इसे 7 दीवारों से घेरा गया था। इनसे शहर, कृषि क्षेत्र तथा जंगलों को भी घेरा गया था।

* कुएँ, बरसात के पानी वाले जलाशय तथा मानव निर्मित जलाशय आदि सामान्य नगर निवासियों के लिए पानी के स्रोत का कार्य करते थे।

* विजयनगर साम्राज्य में दो प्रभावशाली मंच थे – ‘ सभा मंडप ‘ और ‘ महानवमी डिब्बा ‘।

* राजकीय केन्द्रो में सबसे सुन्दर भवनों में एक ‘ लोटस महल ‘ है।

Lotus Mahal
Lotus Mahal

* ‘ नायक ‘ सेना प्रमुख को कहा जाता था। उनके पास सशस्त्र समर्थक सैनिक होते थे।

* ‘ अमर नायक ‘ सेना के सैनिक कमांडर थे ।

* विजयनगर के दो प्रमुख मंदिर विरुपाक्ष मंदिर एवं विट्ठल मंदिर है।

* ‘ हाजरा राम मंदिर ‘ विजयनगर के राजकीय केंद्र में स्थित है।

* दक्षिण के मंदिरों के ऊँचें द्वारों को ‘ गोपुरम ‘ कहा जाता है।

* ‘महानवमी डिब्बा’ एक विशालकाय मंच है जो लगभग 11000 वर्ग फिट के आधार से 40 फिट की ऊंचाई तक जाता है।

 

Mahanavami Dibba
Mahanavami Dibba

* शहरी केंद्र के सडकों पर सामान्य लोगों के आवासों के काम साक्ष मिले है। पुरातत्वादिदों को कुछ स्थानों पर परिष्कृत चीनी मिटटी मिली है। उनका सुझाव है की यहाँ पर अमीर व्यापारी रहतें होंगे।

* पुर्तगाली यात्री बारबोसा के अनुसार सामान्य लोगों के आवास छप्पर के है पर फिर भी सुदृढ़ है, व्यवसाय के आधार पर कई खुलें स्थानों वाली लम्बी गलियों में व्यवस्थित है।

* जल सम्पदा:- तुंगभद्रा नदी उत्तर पश्चिम दिशा को बहती है। विजयनगर को भौगोलिक स्थिति के विषय में सबसे चौकाने वाला तथ्य इस नदी द्वारा निर्मित प्राकृतिक कुंड है।

Join our YouTube Channel: Click Here

Download Previous Year solved Paper: Click Here

जल्द ही इस पाठ प्रश्न – उत्तर उपलब्ध कराएं जायेंगे ……………

Leave a Comment