History Model Set 2 class 12 Solution JAC Ranchi 2021 » Jharkhand Pathshala

History Model Set 2 class 12 Solution JAC Ranchi 2021

History Model Set 2
Class 12
Full Marks: 100 Timing: 3 hours


MCQs questions Section A            1 x 40 = 40 marks

1. मोहनजोदड़ो का उत्खनन किया था?
a. आरo एसo विष्ट
b. आरo डीo बनर्जी
c. जॉन मार्शल
d. इनमे से कोई नहीं 

उत्तर: आरo डीo बनर्जी

2 हल के साक्ष्य कहाँ से प्राप्त हुए है?
a. कालीबंगा
b. लोथल
c. हड़प्पा
d. मोहनजोदड़ो 

उत्तर: कालीबंगा

3 महाजनपद कितने थे?
a. 17
b. 14
c. 18
d. 16

उत्तर: 16

4 साँची स्थित है –
a. भोपाल के निकट
b. इंदौर के निकट 
c. दिल्ली के निकट 
d. आगरा के निकट 

उत्तर: भोपाल के निकट 

5 धम्म की भाषा क्या थी?
a. देवनागरी
b. प्राकृत
c. पाली
d. इनमें से कोई नहीं 

उत्तर: प्राकृत 

6 तक्षशिला विश्वविद्यालय कहाँ स्थित था?
a. नेपाल
b. पाकिस्तान
c. बर्मा
d. भारत 

उत्तर: पाकिस्तान 

7 धर्म महामात्र की नियुक्ति किसने की?
a. बिन्दुसार
b. अशोक
c. समुद्रगुप्त
d. पांड्या

उत्तर: अशोक 

8 मौर्य वंश के संस्थापक कौन थे?
a. अशोक 
b. बिन्दुसार 
c. चन्द्रगुप्त मौर्य 
d. इनमें से कोई नहीं 

उत्तर: चन्द्रगुप्त मौर्य 

9 महात्मा बुद्ध का जन्म कहाँ हुआ था?
a. सारनाथ
b. गया
c. लुम्बनी
d. कुशीनगर 

उत्तर: लुम्बनी 

10 चीनी यात्री फाह्यान भारत कब आया?
a. मौर्यकाल
b. कुषाणकाल
c. गुप्तकाल
d. शककाल

उत्तर: गुप्तकाल

11 नयनार संत पूजा करते थे?
a. शिव
b. विष्णु
c. इन्द्र
d. लक्ष्मी 

उत्तर: शिव 

12 ‘बीजक’ में किसका उपदेश संगृहीत है?
a. कबीर
b. रामानंद
c. गुरुनानक
d. चैतन्य 

उत्तर: कबीर 

13 मीरा बाई के गुरु कौन थे?
a. कबीर
b. गुरुनानक 
c. रैदास
d. रामानंद 

उत्तर: रैदास 

14 अकबर के वित्त मंत्री कौन थे?
a. बीरबल
b. मानसिंह
c. टोडरमल
d. अबुल फजल 

उत्तर: टोडरमल 

15 जजिया कर किस्से लिया जाता था?
a. जिम्मियों से 
b. व्यापारियों से 
c. बुद्धिजीवियों से 
d. सैनिकों से 

उत्तर: जिम्मियों से 

16 अकबर की राजधानी कहाँ थी?
a. लाहौर
b. मुल्तान
c. दिल्ली 
d. फतेहपुर शिकरी

उत्तर: फतेहपुर शिकरी

17 ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना कब हुयी?
a. 1600 में 
b. 1605 में 
c. 1610 में 
d. 1615 में 

उत्तर: 1600 में 

18 संथाल विद्रोह के नेतृत्वकर्ता कौन थे?
a. बिरसा मुंडा
b. नीलाम्बर, पीताम्बर
c. सिद्धू, कान्हू
d. इनमें से कोई नहीं 

उत्तर: सिद्धू, कान्हू 

19 1857 का विद्रोह कहाँ से आरम्भ हुआ?
a. अम्वाला
b. मेरठ
c. लखनऊ
d. ग्वालियर 

उत्तर: मेरठ 

20 बिहार के जगदीशपुर में 1857 की क्रांति का नेतृत्व किसने किया था?
a. मंगल पांडेय
b. तात्या टोपे
c. कुँवर सिंह
d. लक्ष्मीबाई

उत्तर: कुँवर सिंह 

21 ‘धन प्रवास का सिद्धांत’ किसने प्रतिपादित किया था?
a. ऐडम स्मिथ
b. आरo पीo दत्ता
c. दादा भाई नौरोजी
d. इनमें से कोई नहीं 

उत्तर: दादा भाई नौरोजी 

22 भारत में रेलवे की शुरुआत कब हुयी?
a. 1853
b. 1858
c. 1855
d. 1856

उत्तर: 1853 में 

23  रॉलेक्ट कानून किस वर्ष पारित हुआ?
a. 1916
b. 1918
c. 1919
d. 1921

उत्तर: 1919 में 

24 महात्मा गाँधी के राजनीतिक गुरु कौन थे?
a. विवेकानंद 
b. रविंद्र नाथ टैगोर
c. गोपाल कृष्णा गोखले
d. बाल गंगाधर तिलक 

उत्तर: गोपाल कृष्ण गोखले 

25  गाँधी जी ने असहयोग आंदोलन वापस लिया?
a. 1921
b. 1922
c. 1925
d. 1928

उत्तर: 1922 में 

26  स्वराज पार्टी के संस्थापक कौन थे?
a. पंडित नेहरू
b. मोतीलाल नेहरू 
c. सीo आरo दास 
d. b और c दोनों 

उत्तर: मोतीलाल नेहरू और सीo आरo दस दोनों 

27 भारत छोड़ो आंदोलन कब आरम्भ हुआ?
a. 1922
b. 1932
c. 1942
d. 1946

उत्तर: 1942 में 

28 भारत के संविधान का पिता किसे कहा जाता है?
a. डॉo प्रसाद
b. बीo आरo अम्बेडकर
c. पंडित नेहरू 
d. डॉo सच्चिदानंद 

उत्तर: बीo आरo अम्बेडकर

29 महात्मा गाँधी का जन्म कहाँ हुआ था?
a. 1857 ईo
b. 1869 ईo
c. 1905 ईo
d. 1919 ईo

उत्तर: 1869 में 

30 भारतीय संविधान किस तिथि को और किस वर्ष लागु हुआ?
a. 26 नवम्बर 1949
b. 26 जनवरी 1950
c. 26 जनवरी 1951
d. 26 नवम्बर 1952

उत्तर: 26 जनवरी 1950


Fill in the blanks Section B            1 x 10 = 10 marks

1 श्वेताम्बर एवं दिगम्बर का संबंध                        धर्म से है। ( बौद्ध/ जैन )

2 कबीर का जन्म हुआ                      था। ( 1398/1399)

3 रामानंद                    के गुरु थे। ( कबीर / मीरा )

4 भारत का प्रथम मुग़ल शासक                            था। ( बाबर / अकबर )

5 जगदीशपुर से क्रांति का नेतृत्व                  कर रहें थे। ( कुँवरसिंह/ तात्या टोपे )

6 वाजिद अली शाह                         के नवाब थे। ( बंगाल / अवध )

7 मुस्लिम लीग की स्थान                        में हुयी। (1906/1936)

8 ” दिल्ली चलो ” का नारा                      ने दिया था। ( गाँधी / सुभाषचंद्र बोस)

9 दांडी                          राज्य में स्थित है। ( गुजरात / पंजाब )

10 द्वितीय विश्व युद्ध का अंत                          हुआ था। ( 1918/1945)


Very short type Section C           2 x 10 = 20 marks

1 अशोक के अभिलेखों में उपयोग में लायी दो लिपि का उल्लेख कीजिये? History Model Set 2
उत्तर: ब्राह्मी और खरोष्ठी ।

2 दिन- ए- इलाही का संबंध किससे है?
उत्तर: अकबर से ।

3 स्तूप का संबंध किस धर्म से है?
उत्तर: बौद्ध धर्म से ।

4 अकबरनामा के लेखक कौन थे?
उत्तर: अबुल फजल ।

5 अबुल फजल कौन थे?
उत्तर:  अबुल फजल का पूरा नाम अबुल फजल इब्न मुबारक था। इसका जन्म 14 जनवरी 1551 में हुआ था। अबुल फजल ने ही अकबरनामा एवं आइने अकबरी जैसे प्रसिद्ध पुस्तक को लिखा है।

6 महलवाड़ी व्यवस्था किसने लागु की?
उत्तर: इस व्यवस्था को हॉल्ट मैकेंजी ने 1819 में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रान्त और पंजाब लागु किया। यह  भारत के कुल 30% भूमि पर लागु की गयी थी।

7 कांग्रेस की स्थापना कब हुयी थी?
उत्तर: कांग्रेस की स्थापना 1885 में हुयी थी।

8 भारत छोड़ों आंदोलन किसने आरम्भ किया?
उत्तर: भारत छोड़ों आंदोलन 8 अगस्त 1994 में महात्मा गाँधी के नेतृत्व में किया गया था।

9 भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम कब बना?
उत्तर: भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम को माउंटबेटन योजना के आधार पर इंग्लैंड की संसद में 4 जुलाई 1947 को पेश किया गया और 14 दिन बाद यह 18 जुलाई 1947 को इसे पारित कर कानून बनाया गया। भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 1947, भारत के अपने उपनिवेशवाद युग के विषय में पारित ब्रिटिश संसद में यह अंतिम अधिनियम भी था।

10 डॉo अम्बेडकर का जन्म कब हुआ?
उत्तर: डॉo अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रेल 1891 में हुआ था।


Short type Section D           4 x 5 = 20 marks

1 हीनयान और महायान में अंतर स्पष्ट करें। History Model Set 2
उत्तर: हीनयान और महायान में निम्नलिखित अंतर है:

  1. मूर्ति पूजा: महायान वाले बुद्ध को देवता मानते थे, उनकी प्रतिमाएँ बनाते थे और उनकी पूजा करते थे। जबकि हीनयान वाले बुद्ध को केवल मनुष्य मानते थे। ये लोग बुद्ध के मूर्ति बनाने के पक्ष में नहीं थे।
  2. तर्क के स्थान पर विश्वास: हीनयान वाले व्यक्ति के अच्छे कर्मों पर जोर देते थे। इनके अनुसार इंसान हो या भगवान सब को अपने अच्छे तथा बुरे कर्मों का फल मिलता है। जबकि महायान वाले बुद्ध की पूजा करने कर कर्म कांड पर ज्यादा जोर देते थे।
  3. भाषा: हीनयान संप्रदाय के लोग अपनी पुस्तकें पाली भाषा में लिखते थे जबकि महायान संप्रदाय के बहुत से पुस्तकें संस्कृत भाषा में लिखी गयी है।
  4. निर्वाण: हीनयान वालों का कर्म मोक्ष की प्राप्ति के लिए होता था जबकि महायान वाले स्वर्ग की प्रति के लिए कर्म करतें थे।

अथवा, मौर्य के नगर प्रशासन पर एक विवरण प्रस्तुत करें। History Model Set 2
उत्तर: मौर्यों ने प्रशासन को चलाने के लिए उत्तम व्यवस्था किया था। खासकर पाटलिपुत्र जैसे शहर के लिए 30 सदस्यों का एक मंडल होता था जो 6 समितियों में विभक्त था। प्रत्येक समिति में 5 सदस्य होतें थे। प्रत्येक समिति के अपने कार्य और जिम्मेवारी थे। 6 समितियाँ निम्नलिखित थे:

  1. शिल्पकला समिति 
  2. वैदेशिक समिति 
  3. जनसंख्याँ समिति 
  4. वाणिज्य व्यवसाय समिति 
  5. वस्तु निरक्षक समिति 
  6. कर समिति 

2 अकबर के नवरत्न पर नोट लिखें।
उत्तर: पढ़ा पढ़ा- लिखा न होने के बावजूद भी अकबर कला एवं साहित्य का संरक्षक था। उसके दरबार में विभिन्न विधाओं के विशेषज्ञ थे, जिन्हें अकबर के दरबार के नौरत्न कहा जाता था। अकबर का नौरत्नों के नाम निम्नलिखित है:
1 अब्दुल रहीम खान- ए- खाना
2 हाकिम हुमाम
3 मुल्ला दो प्याजा 
4 अबुल फजल 
5 फैजी 
6 तानसेन 
7 राजा मान सिंह 
8 राजा टोडरमल 
9 बीरबल 

अथवा, कबीर के जीवन एवं मुख्या उपदेशों का उल्लेख करें। History Model Set 2
उत्तर: कबीर का जन्म वाराणसी में सन 1398 में एक विधवा ब्रह्मिन के गर्भ से हुआ था। कहा जाता है की लोक लाज के दर से उसने कबीर को वाराणसी में लहरतारा के पास एक तालाब के समीप छोड़ दिया था। उनका लालन-पालन एक जुलाहा दंपत्ति नीरू और नीमा के द्वारा किया गया। उनका मृत्यु 1518 में उत्तर प्रदेश के मगहर में हुआ था। कबीर के प्रमुख उपदेश निम्नलिखित है:
(a) कबीर एकईश्वरवादी थे। उनका मानना था की इस्वर एक है और उसे राम, रहीम, साईं तथा अल्लाह आदि नामों से पुकारा जाता है।
(b) कबीर परमात्मा के निराकार स्वरूप के उपासक थे। उनके अनुसार ईस्वर सर्वशक्तिमान है, ईस्वर सभी जगह उपस्थित है। ईस्वर की प्राप्ति के लिए मंदिर या मस्जिद की कोई आवश्यक्ता नहीं होती है।
(c) कबीर के अनुसार गृहस्त जीवन का पालन करते हुए भी ईस्वर की भक्ति की जाती है। वे व्यावहारिक ज्ञान पे विश्वास करते थे तथा पुस्तक के ज्ञान को व्यर्थ मानते थे। उन्होंने किताबी धर्म उपदेशकों पर ताना देते हुए कहा है ” तू कहता कागज की लेखी, मै कहता आखँ की देखी।”
(d) कबीर हिन्दू- मुस्लिम एकता के पक्षधर थे। उन्होंने समाज में हिन्दू- मुस्लिमों के एकता पर बल दिया था।

3 1857 की क्रांति के धार्मिक कारणों की चर्चा कीजिए। History Model Set 2
उत्तर: 1857 के क्रांति के बहुत से प्रमुख कारन उत्तरदायी थे, जिसमें धार्मिक कारन भी शामिल है। अंग्रेज प्रशासकों के उत्साह के अंतर्गत पारम्परिक भारतीय सामाजिक प्रणाली और सांस्कृतिक संकटग्रस्त प्रतीत होने लगी। हिन्दू और मुस्लिम दोनों के शास्त्र व सम्मत विचारों को चुनौती दी जाने लगी। 1856 के धार्मिक नियोग्यता अधिनियम द्वारा हिन्दू प्रथाओं में सोधन किया गया। धर्म परिवर्तन करने से पुत्र अपने गैर- ईशाई पिता की सम्पति का उत्तराधिकारी बनाने से वंचित नहीं हो सकता था। ईसाई धर्म के प्रचार- प्रसार के लिए धर्म प्रचारकों को पर्याप्त सुविधाएँ दी गयी। इससे भारतीय यह महसूस कर रहें थे की अंग्रेज उन्हें ईसाई मानाने का षड्यंत्र रच रही है। इस कारन से भारतीय लोगों के मन में अंग्रेजी शासन के विरोध में रोष भर गई जिसका विस्फोट 1857 के क्रांति के रूप में हुआ।

4 स्थायी बंदोबस्त व्यवस्था के गुण- दोषों की विवेचना करें। History Model Set 2
उत्तर: स्थायी बंदोबस्त अथवा इस्तमरारी बंदोबस्त ईस्ट इण्डिया कंपनी और बंगाल के जमींदारों के बीच कर वसूलने से सम्बंधित एक स्थाई व्यवस्था हेतु सहमति समझौता था जिसे बंगाल में लार्ड कार्नवालिस द्वारा 22 मार्च, 1793 को लागू किया गया। इसके निम्नलिखित गुण और दोष थे।
स्थायी बंदोबस्त के गुण:
(a) इस व्यवस्था में कम्पनी ने भू- राजस्व वसूल करने का दायित्व कुछ योग्य जमींदारों को दे दिया। जहाँ कम्पनी को राजस्व वसूली के लिए एक बहुत बड़ी संख्या में अपने अधिकारीयों का लगाना पड़ता था, अब यह काम जमींदारों के द्वारा हो जाता था। इससे कम्पनी की कार्य छमता बढ़ी साथ ही बचत बढ़ने के साथ कम्पनी की आय में भी वृद्धि हुयी।
(b) इस व्यवस्था से बंगाल में किसानों की समृद्धि बढ़ गयी थी। किसानों को अपने खेतों का पट्टा मिल गया था जिस पर भूमि का माप और लगान लिखा होता था। अब किसानों को तब तक भूमि खोने का दर नहीं था जब तक वे लगन चूका रहे था।
स्थायी बंदोबस्त के गुण:
(a) इस बंदोबस्त में लगन की राशि हमेशा के लिए निश्चित कर दी गयी थी। कम्पनी को मालूम था की भविष्य में इसे बढ़ाया नहीं जा सकता है। इसलिए शुरुआत में ही लगान की दर बहुत ऊँची निर्धारित की गयी थी। इस कारन जमींदार इसे चुकाने में प्रायः चूक जाते थे और इस तरह उनकी जमींदारी नीलाम होते रहती थी।

5 दांडी मार्च पर टिप्पणी लिखिए। History Model Set 2
उत्तर: दांडी मार्च का आरम्भ 12 मार्च, 1930 ईo को गाँधी जी के नेतृत्व में हुआ था। इसमें गाँधी जी ने 78 कार्यकर्ताओं के साथ साबरमती आश्रम के समुद्र तट पर स्थित दांडी की और गए। 271 मिल की यात्रा समाप्ति में 24 दिन का समय लगा। 6 अप्रेल को यहाँ पहुँच कर गाँधी जी ने मुट्ठी भर नमक उठाकर नमक कानून तोड़ा। इसे साथ ही सविनय अवज्ञा आंदोलन की शुरुआत हुयी। इसमें निम्नलिखित कार्यक्रम को सम्मिलित किया गया था:
(a) हर गाँव में नमक कानून तोड़ा जाएँ।
(b) शराब, अफीम, विदेशी कपड़ों की दुकानों पर धरना दी जाएँ।
(c) सरकारी संस्थाओं का त्याग करना।
(d) सरकार को कर नहीं दिए जाएँ।
(e) विदेशी वस्त्रों की होली जलाई जाएँ।


Short type Section E           5 x 4 = 20 marks

1 मोहनजोदड़ो के नगर- नियोजन की प्रमुख विशिष्टताओं का उल्लेख करें।
उत्तर: संपादन जारी है……..

2 जमींदार कौन थे? मुगलकाल में उनकी क्या भूमिका थी?
उत्तर: संपादन जारी है……..

अथवा, दक्कन विद्रोह (1857) के कारणों की व्याख्या करें।
उत्तर: संपादन जारी है……..

3 भारतीय संविधान के निर्माण में किन्ही चार महत्वपूर्ण मुद्दों की व्याख्या करें।
उत्तर: संपादन जारी है……..

अथवा, आजाद हिन्द फ़ौज पर एक टिप्पणी लिखें।
उत्तर: संपादन जारी है……..

4 भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में महात्मा गाँधी की भूमिका का वर्णन करें। History Model Set 2
उत्तर: राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी भारतीय राजनीतिक मंच पर 1919 से 1948 तक इस कदर छायें रहे की इस युग को भारतीय इतिहास का गाँधी युग कहा जाता है। शांति और अहिंसा के उनके अमर सन्देश ने पुरे विश्व के मानव जाती को प्रभावित किया।
मोहनदास करमचंद गाँधी का जन्म अक्टूबर, 1969 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। 1891 में उन्होंने इंग्लैंड से वकालत पास की और पहले राजकोट में और बाद में बम्बई में वकालत करने लगे। 1893 में उन्हें दक्षिण अफ्रीका जाने का मौका मिला। वह वहाँ गोरों द्वारा किये जाने वाले रंग- भेद के नीति का विरोध किया। दक्षिण अफ्रीका में गाँधी जी ने नटाल भारतीय कांग्रेस (Natal Indian Congress) बनाई। वही उन्होंने अहिंसात्मक सविताय अवज्ञा आंदोलन आरम्भ किया। उनके परसों से दक्षिण अफ्रीका की सरकार को दमनात्मक अधिनियम रद्द करना पड़ा। इससे गाँधी जी प्रतिष्ठा पढ़ने लगी। 1914 में वे भारत लोट आयें। 1917 में उन्होंने नील किसानों के विरुद्ध चम्पारण( बिहार) में आंदोंलन छेड़ा और सफल रहें। खेड़ा सत्याग्रह और अहमदाबाद आंदोलन से उनकी ख्याति बढ़नी लगी। 1919 के जलियावाला बाग़ हत्या कांड के बाद उन्होंने भारतीय राजनीति में सक्रिय भाग लेने का निश्चय किया। खिलाफत आंदोलन, असहयोग आंदोलन, सविनय अवज्ञा आंदोलन, व्यक्तिगत सत्याग्रह से होते हुए 1942 के भारत छोड़ों आंदोलन तक की सभी गतिविधिया गाँधी जी से प्रभावित रही। इसी बिच कई बार उन्हें जेल जाना पड़ा, लेकिन वे लक्ष्य के मार्ग से नहीं हटे और तमाम कठिनाईओं के बावजूद भारत को अहिंसात्मक तरीके से आजादी दिलाने में सफल हुए।


Thank you very much for visiting our website to read The Enemy Ncert book solutions. Our aim in creating this website is to promote free education. It is not possible to do this noble work alone, so we need help from those who want to support us in this purpose. You can follow our various pages to support us, whose links are given below: