Geography class 12: मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र | geography class 12 chapter 1 NCERT solution in Hindi

Geography class 12: मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र | geography class 12 chapter 1 NCERT solution in Hindi

Geography class 12: मानव भूगोल प्रकृति एवं विषय क्षेत्र: इस आर्टिकल में कक्षा 12 के भूगोल विषय के पहले अध्याय के सभी महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर दिए गए है। ये सभी प्रश्न कक्षा 12 की वार्षिक परीक्षा की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण है। ये सभी प्रश्न उत्तर अवश्य ही आपको परीक्षा में अछे नंबर लाने में मदद करेंगे।

Geography class 12 Chapter 1: मानव भूगोल लघु उत्तरीय प्रश्न:

Q.1 मानव भूगोल से आपका क्या अभिप्राय है?
Ans: मानव भूगोल से हमारा अभिप्राय मनुष्य और पर्यावरण के मध्य होने वाले अंतक्रियाओ के अध्ययन से है। जीन बुनस के अनुसार मनुष्य की वे सभी गतिविधिया मानव भूगोल के नाम से जाना जाता है जो मनुष्य को अपने सम्पूर्ण जीवन में भूगोलिक तथ्यों के साथ भागीदारी कर विभिन्न क्रियाओ में संलग्न रखता है।

Q.2. आर्थिक भूगोल की कौन से प्रमुख उपक्षेत्र है?
Ans: 1. संसाधन भूगोल
2. कृषि भूगोल
3. उद्योग भूगोल , तथा
4. अन्तराष्ट्रिय व्यापार भूगोल

Q.3. प्रत्यक्षवाद एवं मानववाद में अंतर बताए?
Ans: प्रत्यक्षवाद का संबंध भोगोलिक प्रतिरूपों के अध्ययन से संबंधित है जबकि मानववाद का संबंध मानव की निर्णय क्षमता, विश्वश तथा अन्य मानवीय गुणों से है।

Q.4. मानव भूगोल के अध्ययन के दो पारंपरिक विधियों के नाम लिखे?
Ans: मानव भूगोल के अध्ययन की दो पारंपरिक विधि निम्नलिखित है: 1. नियतिवाद 2. संभववाद।

Q.5. मानव भूगोल के उद्देश्यों की व्याख्या करे?
Ans: मानव भूगोल के अंतर्गत परमुखत: मानवीय क्रियाओ तथा जीवन के उसके पर्यावरण के अंतरसंबंधियों का अध्ययन किया जाता है। इस प्रकार मानव भूगोल के अध्ययन के प्रमुख क्षेत्र है: 1. सांस्कृतिक भूदृश्य का अध्ययन 2. संसाधन उपयोग 3. पर्यावरण समायोजन।

Geography class 12 Chapter 1: मानव भूगोल दीर्घ उत्तरीय प्रश्न:

Q.6. विभिन्न विद्वानों द्वारा दी गई मानव भूगोल की परिभाषाओ का उल्लेख करे?
Ans: रेटले के अनुससर: “मानव भूगोल मानव समाजों और भूतल के बीच संबंधों का संसलेशित अध्ययन है”।
टेनर के अनुसार: “मानव भूगोल वस्तुत: मानवीय पारिस्थितिकी है, जिसमे पृथ्वी की पृष्ठभूमि से मानव समाज का अध्ययन किया जाता है”।
एलस वर्थ के अनुसार: “मानव भूल में भूगोलिक वातावरण, मानवीय क्रियाओ तथा गुणों के पारस्परिक संबंधों के विवरण व स्वरूप का अध्ययन किया जाता है”।

Q.7. नवनीयतिवाद से क्या अभिप्राय है?
Ans: प्रकृति ने मानव को विकास के भरपूर अवसर प्रदान किए है किन्तु मानव इसका एक सीमा तक प्रयोग कर सकता है। इसलिए संभाववाद पर की विद्वानों ने आलोचना की है। ग्रिफिटह टेलर ने इस आलोचना द्वारा नव नियतिवाद की विचारधारा प्रस्तुत की। उसके अनुसार एक भूगोलवेता का कार्य एक परामशदाता का है न की प्रकृति की आलोचना करने का। यह निश्चयवाद तथा संभावनवाद का एक मध्यमार्ग है। इसे “रुको और जाओ निश्चयवाद: कहते है।

Q.8. मानव भूगोल के उपागमों का नाम लिखे?
Ans: मानव भूगोल के उपागम निम्नलिखित है:
1. अन्वेषण का विवरण
2. प्रादेशिक विसलेशन
3. क्षेत्रीय विभेदन
4. स्थानिक संगठन
5. मानवतावादी, आमूलवादी विचारधारा।

अन्य संबधी पाठ भी पढ़े: