History class 8 chapter 10 question answer

दृश्य कलाओं की बदलती दुनियाँ कक्षा 8 इतिहास।

दृश्य कलाओं की बदलती दुनियाँ: इस आर्टिकल में आप कक्षा 8 की 10वें अध्याय (दृश्य कलाओं की बदलती दुनिया) को पढ़ेंगे तथा साथ ही साथ इसमें एनसीईआरटी के प्रश्न उत्तर भी दिए गए हैं। सभी प्रश्नों को वार्षिक परीक्षा को ध्यान में रख कर तैयार किया गया है। इस आर्टिकल का स्रोत एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तक है।

दृश्य कलाओं की बदलती दुनियाँ महत्वपूर्ण स्मरणीय तथ्य

  • 18 वीं सदी से यूरोप के बहुत सारे कलाकार अंग्रेज व्यापारियों और शासकों के साथ भारत आने लगे थे।
  • यूरोप के कलाकार अपने साथ यथार्थवाद का विचार लेकर आए थे। यह विचार इस मान्यता पर आधारित था कि कलाकारों को अपनी आंखों से चीजों को गौर से देखना चाहिए और उन्हें यथावत चित्रित करना चाहिए।
  • योहान जोफनी यूरोप से आने वाले सबसे प्रसिद्ध चित्रकारों में से थे। उनका जन्म जर्मनी में हुआ था।
  • टॉमस डेनियल और विलियम डेनियल मनोहारी दृश्य के चित्रकार थे।
  • भित्ती चित्र :- दीवारों पर बनाई गई चित्र को भित्ती चित्र कहा जाता है।

दृश्य कलाओं की बदलती दुनियाँ NCERT प्रश्न उत्तर

Q.1. रिक्त स्थान भरें :

(क) जिस कला शैली में चीजों को गौर से देखकर उनकी यथावत तसवीर बनाई जाती है, उसे ………………… कहा जाता है।
Ans- यथार्थपरक।
(ख) जिन चित्रों में भारतीय भूदृश्यों को अनूठा, अनछुआ दिखाया जाता था, उनकी शैली को …………….. कहा जाता है।

Ans- मनोहरी।
(ग) जिस चित्रशैली में भारत में रहने वाले यूरोपीयों के सामाजिक जीवन को दर्शाया जाता था, उन्हें …………… कहा जाता था।

Ans- रूप-चित्रण।
(घ) जिन चित्रों में ब्रिटिश साम्राज्यवादी इतिहास और उनकी विजय के दृश्य दिखाए जाते थे, उन्हें ………………. कहा जाता है।

Ans- इतिहास की चित्रकारी।

Q.2. बताएँ कि निम्नलिखित में से कौन-कौन सी विधाएँ और शैलियाँ अंग्रेजों के जरिए भारत में आईं :

(क) तैल चित्र
(ख) लघु चित्र ।
(ग) आदमकद छायाचित्र
(घ) परिप्रेक्ष्य विधा का प्रयोग
(च) भित्ति चित्र उत्तर
उत्तर
(क) तैल चित्र,
(घ) परिप्रेक्ष्य विधा का प्रयोग।

Q.3. इस अध्याय में दिए गए किसी एक ऐसे चित्र का अपने शब्दों में वर्णन करें, जिसमें दिखाया गया है कि अंग्रेज़ भारतीयों से ज्यादा ताकतवर थे। कलाकार ने यह बात किस तरह दिखाई है?
उत्तर: यह जो पति द्वारा बनाया गया चित्र (चित्र-4, पेज- 126) में दिखाया गया है कि अंग्रेज़ भारतीयों से ज्यादा ताकतवर थे। चित्र 4 में योहान जोफनी द्वारा बनाया गया गवर्नर जनरल हेस्टिंगस और उसली पत्नी का चित्र दिखाया गया है। इसमे भारतीयों को दब्बू और कमतर हैसियत में दिखाया गया है वे अपने गोरे स्वामियों की सेवा कर रहे हैं जबकि अंग्रेजों को श्रेष्ठता और मालिकों के अंदाज में दिखाया गया है। वे अपने कपड़ों का प्रदर्शन कर रहे हैं शाही अंदाज में खड़े हैं और ऐश्वर्य भरा जीवन जीते हैं।

Q.4. ख़र्रा चित्रकार और कुम्हार कलाकार कालीघाट क्यों आए? उन्होंने नए विषयों पर चित्र बनाना क्यों शुरू किया?
उत्तर: ख़र्रा चित्रकार और कुम्हार कलाकार कालीघाट के कालीघात आने और नए विषयों पर चित्र बनाने के कारण निम्नलिखित है:

  1. उस समय कलकत्ता एक वाणिज्यिक तथा प्रशासनिक केंद्रों के रूप में शहरों का विस्तार हो रहा था।
  2. औपनिवेशिक अधिकारी इन शहरों में आकर रह रहे थे, जहाँ नए-नए औपनिवेशिक कार्यालय तथा बाज़ार खुल रहे थे और नई सड़कों व इमारतों का निर्माण हो रहा था।
  3. शहर में नए-नए रोजगार के अवसर पैदा होने के कारण ग्रामीण कलाकार भी नए ग्राहकों तथा नए संरक्षकों की उम्मीद में शहरों में आकर बसने लगे।
  4. कलाकारों ने नई विषय वस्तुओं पर चित्रकारी की नई शैली विकसित की, क्योंकि मूल्य-मान्यताएँ, रुचियाँ, सामाजिक कायदे-कानून और रीति-रिवाज़ आदि बहुत तेजी से बदल रहे थे।

दृश्य कलाओं की बदलती दुनिया अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

Q.1. उत्कीर्ण चित्र किसे कहते है?
उत्तर: उत्कीर्ण चित्र वैसे चित्र को कहते हैं जिसे लकड़ी या धातु के छापे से कागज पर बनाई गई हो।

Q.2. रूपचित्र से क्या अभिप्राय है?
उत्तर: किसी व्यक्ति का ऐसा चित्र जिसमे उसके चेहरे और हाव-भाव पर ज्यादा जोर दिया गया है, उसे रूप चित्र कहते हैं

Q.3. रूप-चित्रण से क्या अभिप्राय है?
उत्तर: पोर्ट्रेट बनाने की कला को रूप चित्रण कहा जाता है।

Q.4. इतिहास की चित्रकारी से क्या अभिप्राय है?
उत्तर: इतिहास की चित्रकारी एक ऐसी चित्रकारी शैली थी जिसमें ब्रिटिश शाही इतिहास की घटनाओं को नाटकीय रूप में दिखाया जाता था।

Q.5. परिप्रेक्ष्य विधि क्या है?
उत्तर: परिप्रेक्ष्य विधि एक ऐसी भेजी है जिसमें दूर की चीज है छोटी दिखाई देती है और समानांतर रेखाएं दुर जाकर एक दूसरे में विलीन हो जाती है।

RELEATED CONTENTS

Leave a Comment

Your email address will not be published.