कार्बन एवं उसके यौगिक Class 10 Science Chapter 4 NCERT Solutions

कार्बन एवं उसके यौगिक| Carbon evan uske Yaugik | Class 10 Science Chapter 4

Carbon evan uske Yaugik: class 10 Science Chapter 4 में कार्बन एवं उसके यौगिक के बारें में अध्ययन करेंगे और इसके महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर का समाधान भी करेंगे।

Carbon evan uske Yaugik Class 10: 1 अंक स्तरीय प्रश्न तथा उत्तर

Q.1. एल्केन का सामान्य सूत्र क्या है?
Ans: CnH2 n +2
Q.2. एल्कीन का सामान्य सूत्र लिखें।
Ans: CnH2 n
Q.3. संपीडित प्राकृतिक गैस का मुख्य घटक क्या है:
Ans: प्रोपेन
Q.4. एल्केन का सामान्य सूत्र लिखे।
Ans: CnH2n+2
Q.5. एल्कीन सामान्य सूत्र लिखे।
Ans: CnH2n
Q.6. एल्काइन का सामान्य सूत्र लिखे।
Ans: CnH2n-2
Q.7. एक त्रिआबंध युक्त असंतृप्त हाइड्रोकार्बोन का नाम लिखे।
Ans: एथाइन (C2H2)
Q.8. कार्बन की संयोजकता क्या है?
Ans: 4
Q.9. पेन्टेंट से उत्पन्न एल्कोहल का आणविक सूत्र लिखें।
Ans: C5H11OH
Q.10. कार्बन की परमाणु संख्या क्या है?
Ans: 6
Q.11. कार्बन का कौन सा अपरूप विद्युत का कुचालक होता है?
Ans: ग्रेफ़ाइट
Q.12. भूपर्पट्टी में कार्बन की प्रतिशत मात्रा क्या है?
Ans: 0.02%
Q.13. कार्बन के कितने अपरूप हैं?
Ans: 2
Q.14. कार्बन के दो मुख्य अपरूप का नाम बताएं।
Ans: हीरा तथा ग्रेफ़ाइट
Q.15. तीन कार्बन परमाणुओं वाली एल्केन का नाम बताएं।
Ans: प्रोपेन
Q.16. एथेन कौन सा हाइड्रोकार्बन है?
Ans: संतृप्त
Q.17. एथाइन किस प्रकार का हाइड्रोकार्बन है?
Ans: असंतृप्त
Q.18. मिथेन किस प्रकार का हाइड्रोकार्बन है?
Ans: संतृप्त
Q.19. ब्यूटेन के कितने समावयव होते है?
Ans: 2
Q.20. संकलन अभिक्रिया किस हाइड्रोकार्बन में होता है?
Ans: असंतृप्त
Q.21. मिथेन तथा क्लोरीन के बीच होने वाली अभिक्रिया को क्या कहते है?
Ans: प्रतिस्थापन
Q.22. नाइट्रोजन में कौन सा आबन्ध होता है?
Ans: त्रिआबंध
Q.23. किण्वन प्रक्रिया में कौन सी गैस निकलती है?
Ans: CO2
Q.24. हाइड्रोजनीकरण में किस उत्प्रेरक का उपयोग किया जाता है?
Ans: निकेल
Q.25. बेन्जीन का अनुसूत्र लिखे?
Ans: C6H6

Carbon evan uske Yaugik Class 10: 2 or 3 अंक स्तरीय प्रश्न तथा उत्तर

Q.26. कार्बन आयनिक यौगिक का निर्माण क्यों नहीं करता है?
Ans: कार्बन आयनिक यौगिक का निर्माण नहीं करता है इसके दो कारण निम्नलिखित हैं:
1. कार्बन परमाणुओं के बीच प्रबल आकर्षण बल नहीं होता है।
2. ये यौगिक विद्युत के कुचालक होते है।

Q.27. शृंखलन किसे कहते है?
Ans: कार्बन परमाणुओ में कार्बन के ही अन्य परमाणुओ के साथ आबन्ध बनाने की अद्वितीय क्षमता होती है जिससे बड़ी संख्या में अनु बनते है, इस गुण को शृंखलन कहते है। उदाहरण: सिलिकॉन तथा हाइड्रोजन, कार्बन

Q.28. असंतृप्त यौगिक किसे कहते है?
Ans: कार्बन परमाणुओ के बीच द्विआबंध अथवा त्रिआबंध वाले कार्बन के यौगिक को असंतृप्त यौगिक कहते है।

Q.29. संतृप्त हाइड्रोकार्बन किसे कहते है?
Ans: वैसे हाइड्रोकार्बन जिनमे कार्बन परमाणु की संयोजकता आवास में द्विआबंध अथवा त्रिआबंध के द्वारा जुटी रहती है, उसे संतृप्त हाइड्रोकार्बन कहते है।

Q.30. समजातीय श्रेणी किसे कहते है?
Ans: कार्बन यौगिकों की वह श्रेणी जिसके सही सदस्यो में एक ही प्रकार्यात्मक समूह रहता है और जिसके किसी भी दो क्रमागत सदस्यों में एक ही आणविक सूत्रों के बीच सद्य – CH2 का अंतर रहता है, उसे समजातीय श्रेणी कहते है। जैसे- CH4 तथा C2H6 में – CH2 का अंतर है।

Q.31. निम्न का IUPAC नाम लिखें।Answers
1. एसिटोन1.प्रोपेनोन
2. मिथाइल ब्रोमाइड2.ब्रोमो मेथेन
3. एसिटिक अम्ल3. एथेनॉइक अम्ल

Q.32. निम्न यौगिकों की संरचना बताएं-
1. एथेनॉइक अम्ल
2. ब्रोमोपेंटेन
3. ब्यूटेनोन
4. हेक्सेनैल
Ans:

एथेनॉइक अम्ल संरचना

एथेनोइक अम्ल संरचना

ब्रोमोपेंटेन संरचना

ब्रोमोपेंटेन संरचना

ब्यूटेनोन संरचना

ब्यूटेनोन संरचना

हेक्सेनैल संरचना

हेक्सेनैल संरचना

Q.33. सहसंयोजक आबन्ध क्या है? सहसंयोजक बंधन बनाने वाले दो यौगिकों के नाम लिखे।
Ans: दो परमाणुओ के बीच एलेक्ट्रोन के एक युग्म की साझेदारी के फलस्वरूप बनने वाले आबन्ध को सहसंयोजी आबन्ध कहते।
दो यौगिक: (1) CH4 (2) NH3

Q.34. सहसंयोजी आबन्ध वाले यौगिक के लक्षण लिखें।
Ans: सहसंयोजी आबन्ध वाले यौगिक के लक्षण ;

  • इनमे क्वथनांक व गलनांक कम होता है।
  • ये सामान्यतः गैस या द्रव अवस्था में होते है।
  • ये ऊष्मा और विद्युत के कुचालक होते है।

Q.35. कार्बन आयनिक यौगिक का निर्माण क्यों नहीं करता?
Ans: कार्बन के आयनिक यौगिक के निर्माण न करने के कारण:

  • कार्बन परमाणुओ के बीच प्रबल आकर्षण बल नहीं होता है।
  • ये योगिक विद्युत के कुचालक होते है।

Carbon evan uske Yaugik Class 10: 5 अंक स्तरीय प्रश्न तथा उत्तर

Q.36. हाइड्रोकार्बन क्या है संतृप्त और असंतृप्त हाइड्रोकार्बन में अंतर लिखें।
Ans: हाइड्रोजन एवं कार्बन से बने यौगिक को हाइड्रोकार्बन कहते हैं संतृप्त हाइड्रोकार्बन और असंतृप्त हाइड्रोकार्बन में अंतर निम्नलिखित है:

संतृप्त हाइड्रोकार्बन असंतृप्त हाइड्रोकार्बन
1.वैसे हाइड्रोकार्बन जिन में कार्बन परमाणु की चारों संयोजकताएं एकल बंधन द्वारा संतुष्टरहती है उसे संतृप्त हाइड्रोकार्बन कहते हैं। 1. वैसे हाइड्रोकार्बन जिनमें दो कार्बन परमाणुओं के बीच द्विआबंध या त्रिबंध होता है तो उसे असंतृप्त हाइड्रोकार्बन कहते हैं।
2. ये बहुत कम अभिक्रियाशील होते हैं। 2.ये अधिक अभिक्रियाशील होते हैं
3. इसका सामान्य सूत्र CnH2 n +2 होता है, जहां n = 1,2,3… आदि। 3. इसमें द्विबन्ध वाले का सामान्य सूत्र Cn H2 n होता है और त्रिबंध वाले का सामान्य सूत्र Cn H2 n-2 होता है। जहां n = 2,3,4… आदि
4. इसे एल्केन कहते है। 4. इसमे द्विबन्ध वाले को एल्किन एवं त्रिबंध वाले को एल्काइन कहते है।
5. इसका प्रथम सदस्य मेथेन है। 5. इसमे द्विबन्ध वाले का प्रथम सदस्य एथीन और त्रिबंध वाले का प्रथम सदस्य एथाइन है।

Q.37. मिसेल क्या है? जब सबुन को जल में डाला जाता है तो मिसेल का निर्माण क्यों होता है? क्या एथेनॉल जैसे दूसरे विलायको में भी मिसेल का निर्माण होगा?
Ans: मिसेल: साबुन को जल में घोलने पर साबुन के कण इस पर एकत्रित होकर गुटों का रूप धारण कर लेते हैं जिसमें लंबी कार्बन श्रृंखला वाला भाग आंतरिक हिस्से में होता है और आयनिक भाग सतह पर होता है इस संरचना को मिसेल कहते हैं।
साबुन के अणु के 2 मुख्य भाग हैं- एक जल रागी दूसरा विरागी भाग। कार्बन श्रृंखला वाला भाग जल विरागी होता है और आयनिक भाग सोडियम या पोटेशियम परमाणु होता है वह रागी होता है। यह जब पानी जैसे ध्रुवीय विलायक में डाले जाते हैं तब अपने आवेशित भाग के कारण जल रागी भाग (बाहर जल की ओर) होता है। इस प्रकार मिसेल बनते हैं। एथेनॉल एक अध्रुवीय विलायक है, अतः इसमें जलरागी भाग के लिए आकर्षण भी नहीं होता है अतः एथेनॉल में साबुन घोलने पर मिसेल नहीं बनेंगे।

Q.38. रासायनिक संघटन के आधार पर साबुन और अपमार्जक में अंतर लिखे।
Ans: रासायनिक संघटन के आधार पर साबुन और अपमार्जक में अंतर:

साबुन अपमार्जक
यह उच्च वास अम्लों के सोडियम लवण है। यह लंबी शृंखला वाले सल्फॉनिक अम्लों के सोडियम लवण है।
इसका आयनिक सिरा -COO- Na+ होता है। इसका आयनिक सिरा -SO3-Na+ या -SO4-Na+ होता है।
इसका जैव अपघटन आसानी से हो जाता है। इसलिए यह जल प्रदूषण उत्पन्न नहीं करते है। इसका जैव अपघटन नहीं होता है। इसलिए यह जल प्रदूषण उत्पन्न करते है।
यह कठोर जल में कठिनाई से झाग देता है। यह कठोर जल में आसानी से झाग देता है।
इसमे आद्रता का गुण कम पाया जाता है। इसमे आद्रता का गुण अधिक पाया जाता है।

Q.39. साबुन की सफाई प्रक्रिया की क्रियाविधि सांझाएं।
Ans: साबुन के अनु इसे होते है जिनके दोनों सिरों के विभिन्न गुणधर्म होते है। जल में विलय एक सिरे को जलरागी कहते है तथा हाइड्रोकार्बन में विलय दूसरे सिरे से जलविरागी कहते है। जब साबुन जल की सतह पर होता है तब इसके अणु अपने को इस प्रकार व्यवस्थित कर लेते है कि इसका आयनिक सिरा जल के अंदर होता है जबकि हैड्रोकार्बनिक पूँछ ( दूसरा छोर) जल के बाहर होती है। जल के अंदर इन अणुओ की एक विशेष व्यवस्था होती है जिससे इसका हाइड्रोकार्बन सिरा जल के बाहर बना होता है। ऐसा अणुओ का बड़ा गुच्छा बनने के कारण होता है जिससे जलविरागी पूँछ के गुच्छे के आंतरिक हिस्से में होती है जबकि उसका आयनिक सिर गुच्छे की सतह पर होता है। इस संरचना को मिसेल कहते है। मिसेल के रूप में साबुन स्वच्छ करने में सक्षम होता है क्योंकि तैलीय मैल मिसेल के केंद्र में एकत्र हो जाते है। मिसेल विलयन में कोलाइड के रूप में बने रहते है तथा आयन आयन विकर्षण के कारण वे अवक्षेपित नहीं होते। इस प्रकार साबुन का मिसेल मैल को पानी में घुलाने में मदद करता है और हमारे कपड़े साफ हो जाते है।

Q.40. कार्बन मुख्यतः सहसंयोजी यौगिक क्यों बनाता है?
Ans: कार्बन की परमाणु संख्या 6 है। इसका इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 2,4 होता है। इसकी बाहरी कक्षा के इलेक्ट्रॉनिक नाभिक के साथ मजबूती से बंधे रहते है। अतः कार्बन का परमाणु अपनी बाहरी कक्षा के इलेक्ट्रॉन का त्याग या ग्रहण कर अक्रिय गैस जैसी संरचना भी नहीं प्राप्त कर सकता है। अतः: कार्बन परमाणु अन्य परमाणुओ के साथ इलेक्ट्रॉन का साझा करके ही अक्रिय गैस जैसी संरचना प्राप्त कर सकता है। इसी कारण कार्बन परमाणु सदा सहसंयोजी बंधन ही बनाता है। अर्थात कार्बन के यौगिक मुख्यतः सहसंयोजी होते है।